Wafa Shayari – behtareen wafa shayari in hindi

Wafa Shayari  1 :

Wafa Shayari :

तेरे होते हुए भी तन्हाई मिली है,

वफ़ा करके भी देखो बुराई मिली है,

जितनी दुआ की तुम्हे पाने की,

उस से ज़यादा तेरी जुदाई मिली है…

Tere Hote Hue Bhi Tanhai Mili Hai,

Wafa Karke Bhi Dekho burai Mili Hai,

Jitni Dua Ki Tumhe Paane Ki,

Uss Se Jayada Teri Judaii Mili Hai…

Wafa Shayari
Wafa Shayari

Wafa Shayari  2 :

बहुत अजीब था वो हिज्र का आलम,

कि तुझे अलविदा भी न कह सका,

तेरी मासूमियत में इतना फ़रेब था

कि तुझे बेवफ़ा भी न कह सका।

Bahut Ajeeb Tha Wo Hizr Ka Aalam,

Ki Tujhe Alvida Bhi Na Kah Saka,

Teri Masoomiyat Mein Itna Fareb Tha

Ki Tujhe Bewafa Bhi Na Kah Saka.

Wafa Shayari
Wafa Shayari

Wafa Shayari  3 :

परवाह करने वाले रूला जाते है,

अपना समझने वाले पराया बना जाते है,

चाहे जितनी वफाऐं कर लो इनसे,

न छोडेगे तुमको कहकर छोड जाते हैं…

Parwaah Karne Wale Rulaa Jaate Hai,

Apna Samjhne Wale Parawa Bana Jata Hai,

Chahe Jitni Wafai Kar Loo Inse,

Na Chodenga Tumko Kehkar Chod Jaate Hai…

Wafa Shayari
Wafa Shayari

Wafa Shayari  4 :

उन्हें एहसास हुआ है इश्क़ का हमें रुलाने के बाद,

अब हम पर प्यार आया है दूर चले जाने के बाद,

क्या बताएं किस कदर बेवफ़ा है यह दुनिया,

यहाँ लोग भूल जाते हैं किसी को दफनाने के बाद।

Unhen Ehsaas Hua Hai Ishq Ka Hame Rulane Ke Baad,

Ab Ham Par Pyar Aaya Hai Door Chale Jaane Ke Baad,

Kya Bataen Kis Kadar Bewafa Hai Yeh Duniya,

Yahan Log Bhool Jaate Hain Kisi Ko Dafanane Ke Baad.

Wafa Shayari
Wafa Shayari

Wafa Shayari  5 :

प्यार किसी को करोगे रुस्वाई ही मिलेगी,

वफ़ा कर लो चाहे जितनी बेवफाई ही मिलेगी,

जितना मर्जी किसी को अपना बना लो,

जब आँख खुलेगी तन्हाई ही मिलेगी।

Pyar Kisi Ko Karoge Ruswayi Hi Milegi,

Wafa Kar Lo Chahe Jitni Bewafai Hi Milegi,

Jitana Marji Kisi Ko Apna Bana Lo,

Jab Aankh Khulegi Tanhayi Hi Milegi.

Wafa Shayari

Shayari  6 :

बेवफ़ाई से ज्यादा क्या चीज होगी,

ग़म-ए-हालत जुदाई से बढ़कर क्या होगी,

जिसे देनी हो सज़ा उम्र भर के लिए,

सज़ा तन्हाई से बढ़कर और क्या होगी।

Bewafai Se Jyada Kya Cheez Hogi,

Gam-E-Haalat Judai Se Badhkar Kya Hogi,

Jise Deni Ho Saza Umr Bhar Ke Liye,

Saza Tanhayi Se Badhkar Aur Kya Hogi.

Wafa Shayari

Shayari  7 :

सज़ा ये दी है कि आँखों से छीन लीं नींदें

क़ुसूर ये था कि जीने के ख़्वाब देखे थे

किसी ने रेत के तूफ़ाँ में ला के छोड़ दिया

ये जुर्म था कि वफ़ा के सराब देखे थे |

~आमिर उस्मानी

Sazaa ye dii hai ki aankho se cheen lee neende,

Kusuur ye tha ki jeene ke khawab dekhe the,

Kisi ne reet ke toofan meh ke chood diya,

Ye jurm tha ki wafa ke sarab dekhe the.

~AMIR USMAANI

Sazaa ye dii hai ki aankho se cheen lee neende

Shayari  8 :

उसकी याद में हम बरसों रोते रहे,

बेवफ़ा वो निकले बदनाम हम होते रहे,

प्यार में मदहोशी का आलम तो देखिये,

धूल चेहरे पर थी और हम आईना साफ़ करते रहे।

Uski Yaad Mein Ham Barson Rote Rahe,

Bewafa Wo Nikle Badnaam Ham Hote Rahe,

Pyar Mein Madhoshi Ka Aalam To Dekhiye,

Dhool Chehare Par Thi Aur Ham Aaina Saaf Karte Rahe.

Uski Yaad Mein Ham Barson Rote Rahe

Shayari  9 :

जब तेरा दर्द मेरे साथ वफ़ा करता है,

एक समंदर मेरी आँखों से बहा करता है !

दौलत से वफ़ा ना-मुम्किन है दौलत पे ज़ियादा नाज़ न कर,

सब ठाट पड़ा रह जाएगा जब लाद चलेगा बंजारा !!

~पॉपुलर मेरठी

Jab Tera Dard Mere Saath Wafa Karata Hai,

Ek Samandar Mere Aankhon Se Baha Karata Hai !

Daulat Se Wafa Na-Mumkin Hai Daulat Pe Ziyaada Naaz Na Kar,

Sab Thaat Pada Rah Jaega Jab Laad Chalega Banjaara !!

~POPULAR MEREETE

Jab Tera Dard Mere Saath Wafa Karata Hai

Shayari  10 :

चारों तरफ़ बिखर गईं साँसों की ख़ुशबुएँ

राह-ए-वफ़ा में आप जहाँ भी जिधर गए

दिल से निकलेगी न मर कर भी वतन की उल्फ़त

मेरी मिट्टी से भी ख़ुशबू-ए-वफ़ा आएगी

~लाल_चन्द_फ़लक

Chaaron Taraf Bikhar Gaeen Saanson Ki Khushabuen

Raah-e-Wafa Mein Aap Jahaan Bhee Jidhar Gae

Dil Se Nikalegi Na Mar Kar Bhi Watan Ki Ulfat

Meri Mittee Se Bhi Khushaboo-e-Wafa Aaegi.

~LAL_CHAND_FALAK

Chaaron Taraf Bikhar Gaeen Saanson Ki Khushabuen

Click here to read many best wafa shayari.

Click here to read the best post

waah shayar

We at waah shayari provide you with the best shayari collection you can find on the internet.

Leave a Reply