Romantic Shayari – Kumar Vishwas ki behtareen shayari

मेरा जो भी तर्जुबा है, तुम्हे बतला रहा हूँ मैं ,
कोई लब छु गया था तब, की अब तक गा रहा हूँ मैं |
बिछुड़ के तुम से अब कैसे, जिया जाये बिना तडपे ,
जो मैं खुद ही नहीं समझा, वही समझा रहा हु मैं |
                               
                  - Kumar Vishwas

Mera jo bhi tarjuba hai, tumhe batla raha hoon main,
Koi laab chu gaya tha tab, ki ab tak gaa raha hoon main.
Bichud ke tum se ab kaise, jiya jaaye bina tadape,
Jo main khud hi nahin samjha,
vahi samajha raha hu main.
                               
                  - Kumar Vishwas

Romance Shayari

Continue Reading Romantic Shayari – Kumar Vishwas ki behtareen shayari

Pyaar Shayari – pyaar wali shayari from satbir singh

मख़मली सी रातों में, बातें झिलमिलाती हैं,
बहते हैं जब ख़याल सुरीले, तुम्हारी आँखें जगमगाती हैं |
उड़ते उड़ते थक गये हैं, ख़्वाबों के परिंदे अब,
दिन का गुज़रा वक़्त ज़िन्दगी, रातें रूहानी कहलाती हैं |

Makhamali si raaton mein, baaten jhilamilati hain,
Bahte hain jab khayal surile, tumhari aankhen jagamagati hain..
Udate Udate thak gaye hain, khwabon ke parinde ab,
Din ka guzra waqt zindagi, raten rohani kahlati hain..

Pyaar Shayari

Continue Reading Pyaar Shayari – pyaar wali shayari from satbir singh