Maut Shayari – 10 sad maut shayari

Maut Shayari  1 :

Maut Shayari :

प्यार में सब कुछ भुलाए बैठे हैं,

चिराग यादों के जलाये बैठे है,

हम तो मरेंगे उनकी ही बाहों में,

ये मौत से शर्त लगाये बैठे हैं।

Pyar Mein Sab Kuchh Bhulaye Baithe Hai,

Chirag Yaadon Ke Jalaye Baithe Hai,

Hum Toh Marenge Unki Hi Bahon Mein,

Yeh Maut Se Shart Lagaye Baithe Hai.

Maut Shayari
Maut Shayari

Maut Shayari  2 :

हमारे प्यार का यूँ इम्तिहान ना लो,

करके बेरुखी मेरी तुम जान ना लो,

एक इशारा कर दो हम खुद मर जाएंगे,

हमारी मौत का खुद पर इल्ज़ाम ना लो।

Humare Pyar Ka Yun Imtehaan Na Lo,

Karke Berukhi Meri Tum Jaan Na Lo,

Ek Ishara Kar Do Hum Khud Mar Jayenge,

Humari Maut Ka Khud Par Ilzaam Na Lo.

Maut shayari
Maut Shayari

Maut Shayari  3 :

तुम मेरी कब्र पे रोने मत आना,

मुझसे प्यार था ये कहने मत आना,

दर्द दो मुझे जब तक दुनिया में हूँ,

जब सो जाऊं तो मुझे जगाने मत आना।

Tum Meri Qabr Pe Rone Mat Aana,

Mujhse Pyar Tha Ye Kehne Mat Aana,

Dard Do Mujhe Jab Tak Duniya Mein Hoon,

Jab So Jaaun To Mujhe Jagane Mat Aana.

Maut Shayari
Maut Shayari

Shayari  4 :

हम अपनी मौत खुद मर जायेंगे सनम,

आप अपने सर पर क्यूँ इलज़ाम लेते हो,

जालिम है दुनिया जीने न देगी आपको,

आप क्यूँ अपनी जुबां से मेरा नाम लेते हो।

Hum apni Maut Khud Mar Jaayenge Sanam,

Aap Apne Sar Par Kyu iljaam Lete Ho,

Jaalim Hai Duniya Na Jeene Degi AapKo,

Aap Kyu Apni Jubaa Se Mera Naam Lete Ho.

Maut Shayari
Maut Shayari

Shayari  5 :

मोहब्बत के नाम पे दीवाने चले आते हैं,

शमा के पीछे परवाने चले आते हैं,

तुम्हें याद ना आये तो चले आना मेरी मौत पर,

उस दिन तो बेगाने भी चले आते हैं।

Mohabbat Ke Naam Pe Deewane Chale Aate Hain,

Shama Ke Peeche Parwane Chale Aate Hain,

Tumhe Yaad Na Aaye Toh Chale Aana Meri Maut Par,

Uss Din Toh Begaane Bhi Chale Aate Hain.

Maut shayari
Maut Shayari

Shayari  6 :

चंद साँसे बची हैं आखिरी बार दीदार दे दो,

झूठा ही सही एक बार मगर तुम प्यार दे दो,

जिंदगी तो वीरान थी मौत भी गुमनाम ना हो,

मुझे गले लगा लो फिर मौत मुझे हजार दे दो।

Chand Saanse Bachi Hain Aakhiri Deedar De Do,

Jhutha Hi Sahi Ek Baar Magar Pyaar De Do,

Zindgi To Veeran Thi Par Maut Toh Gumnaam Na Ho,

Mujhe Gale Laga Lo Fir Maut Mujhe Hajaar De Do.

Maut shayari


Shayari  7 :

ऐ मौत तुझे भी गले लगा लूँगा जरा ठहर जा,

अभी है आरज़ू सनम से लिपट जाने की।

Ai Maut Tujhe Bhi Gale Laga Lunga Jara Thhahar Ja,

Abhi Hai Aarzoo Sanam Se Lipat Jaane Ki.

Maut shayari


Shayari  8 :

कोई नहीं आएगा मेरी जिदंगी में तुम्हारे सिवा,

बस एक मौत ही है जिसका मैं वादा नहीं करता।

Koi Nahi Aayega Meri Zindagi Mein Tumhare Siwa,

Bas Ek Maut Hi Hai Jiska Main Vaada Nahi Karta.

Koi Nahi Aayega Meri Zindagi Mein


Shayari  9 :

इतनी शिद्दत से चाहा उसे की खुद को भी भुला दिया,

उनके लिए अपने दिल को कितनी ही बार रुला दिया,

एक बार ही ठुकराया उन्होंने,

और हमने खुद को मौत की नींद सुला दिया।

Itni Shiddat Se Chaha Use Ki Khud Ko Bhi Bhula Diya,

Unke Liye Apne Dil Ko Kitni Hi Baar Rula Diya,

Ek Baar Hi Thukraya Unhone,

Aur Humne Khud Ko Maut Ki Neend Sula Diya.

Itni Shiddat Se Chaha


 Shayari  10 :

मेरे इश्क में कशिश तो बहुत है,

मगर वो पत्थर दिल पिघलता नहीं,

मिले खुदा तो माँगूंगी उसको,

लेकिन ख़ुदा मरने से पहले मिलता नहीं।

Mere Ishq Mein Kashish To Bahut Hai,

Magar wo Patthar Dil Pighalta Nahin,

Mile Khuda To Mangungi Usko,

Lekin Khuda Marne Se Pahale Milta Nahin.

Mere Ishq Mein Kashish

waah shayar

We at waah shayari provide you with the best shayari collection you can find on the internet.

Leave a Reply