Khayal Shayari – best khayal shayai in hindi and urdu

Khayal Shayari  1 :

Khayal Shayari :

एक ख्याल बन के तू दिल में समा जाता है,

तू ही बस मेरे दिल को बहुत भाता है,

तेरी आँखों से देखता हूँ मैं दुनिया सारी,

इस लिए हर तरफ बस तू ही नजर आता है।

Ek Khayal Ban Ke Tu Dil Me Samaa Jata Hai,

Tu Hi Bas Mere Dil Ko Bahut Bhata Hai,

Teri Aankhon Se Dekhta Hu Main Duniya Sari,

Iss Liye Har Taraf Bas Tu Hi Nazar Aata Hai.

Khayal Shayari
Khayal Shayari

Khayal Shayari  2 :

कोई है जिसका इस दिल को इंतज़ार है,

ख्यालों में भी बस उसका ही ख्याल है,

खुशियां मैं सारी उस पर लुटा दूँ,

कब आएगा वो चाहने वाला…

जिसका इस दिल को इंतज़ार है।

Koi Hai Jiska Is Dil Ko Intezaar Hai,

Khayalon Me Bhi Bas Uska Hi Khayal Hai,

Khushiyan Main Saari Us Par Luta Dun,

Kab Aaega Vo Chahane Wala…

Jiska Is Dil Ko Intezaar Hai.

Khayal Shayari
Khayal Shayari

Khayal Shayari  3 :

जाने उस शक्स को कैसा ये हुनर आता है,

रात होती है तो आँख में उतर आता है,

मैं उसके ख्याल से निकलूं तो कहाँ जाऊं,

वो मेरी सोच के हर रास्ते पर नज़र आता है।

Jaane Us Shaks Ko Kaisa Ye Hunar Aata Hai,

Raat Hoti Hai To Aankh Me Utar Aata Hai,

Main Uske Khayal Se Nikalun To Kahan Jaaun,

Wo Meri Soch Ke Har Raste Par Nazar Aata Hai.

Khayal Shayari
Khayal Shayari

Khayal Shayari  4 :

शायरी करना तो बस एक बहाना है,

इरादा तो आपका एक लम्हा चुराना है,

आप हमे याद करो या न करो,

हमे तो आपके खयालो में आना है।

‪Shayari Karna To Bas Ek Bahana Hai,

Iraada To Aapka Ek Lamha Churana Hai,

Aap Humein Yaad Karo Ya Na Karo,

Humein To Aapke Khayalo Me Aana Hai.

Khayal Shayari
Khayal Shayari

Khayal Shayari  5 :

सब कुछ मिला सुकून की दौलत नहीं मिली,

एक तुझको भूल जाने की मौहलत नहीं मिली,

करने को बहुत काम थे अपने लिए मगर,

हमको तेरे ख्याल से कभी फुर्सत नहीं मिली।

Sab kuchh mila sukoon ki daulat nahin mili,

Ek tujhako bhool jaane ki mauhalat nahin mili,

Karane ko bahut kaam the apne liye magar,

Hamako tere khyaal se kabhi fursat nahin mili.

Khayal Shayari
Khayal Shayari

Shayari  6 :

बहुत चाहा पर उन्हें भुला ना सके,

ख्यालों में किसी और को ला ना सके,

किसी को देख कर आंसू तो पोंछ लिए,

पर किसी को देख कर हम मुस्कुरा ना सके।

Bahut Chaha Par Unhen Bhula Na Sake,

Khyaalon Me Kisi Aur Ko La Na Sake,

Kisi Ko Dekh Kar Aansu To Ponchh Liye,

Par Kisi Ko Dekh Kar Ham Muskura Na Sake.

Khayal Shayari

Shayari  7 :

मुझे मालूम है कि ये ख्वाब झूठे हैं

और ख्वाहिशे अधूरी हैं,

मगर जिन्दा रहने के लिए

कुछ गलतफहमियाँ भी जरूरी हैं ।

Mujhe maaloom hai ki ye khawab jhoothe hain

Aur khawahishe adhoori hain,

Magar jinda rahane ke liye

Kuch galatafahamiyaan bhi jaruri hain .

Khayal Shayari

Shayari  8 :

तेरे सीने से लगकर, तेरी आरजू बन जाऊँ,

तेरी साँसो से मिलकर, तेरी खुशबू बन जाऊँ,

फासले ना रहें कोई हम दोनों के दरमियाँ,

मैं, मैं ना रहूँ, बस तू ही तू बन जाऊँ।

Tere seene se lagkar, teri aarjoo ban jaoon,

Teri saanso se milkar, teri khushboo ban jaoon,

Fasale na rahen koi hum dono ke daramiyaan,

Main, main na rahoon, bas tu hi toh ban jaoon.

Tere seene se lagkar, teri aarjoo ban jaoon

Shayari  9 :

मैने कब तुझसे ज़माने की खुशी माँगी हैं,

एक हल्की सी मेरे लब ने हँसी माँगी हैं ,

सामने तुझको बिठाकर तेरा दीदार करूँ,

अपनी आँखों में बसा कर कोई इक़रार करू,

जी में आता हैं के जी भर के तुझे प्यार करू।

Maine kab tujhse zamaane ki khushi maangee hain,

Ek halki si mere lab ne hansi maangi hain ,

Saamane tujhko baitha kar tera deedaar karoon,

Apni aankhon mein basa kar koi iqraar karo,

Jee mein aata hain ke jee bhar ke tujhe pyaar karoo.

Maine kab tujhse zamaane ki khushi maangee hain

Shayari  10 :

उसकी मौहब्बत का सिलसिला भी

क्या अजीब सिलसिला था…

अपना भी नहीं बनाया और

किसी का होने भी नहीं दिया ।

Uski mohabbat ka silsila bhi

Kya ajeeb silsila tha…

Apna bhi nahin banaya aur

Kisi ka hone bhi nahin diya .

Uski mohabbat ka silsila bhi

Read more:

Khayal shayari 1

go through

waah shayar

We at waah shayari provide you with the best shayari collection you can find on the internet.

Leave a Reply