Kaash Shayari – best Kaash Shayari in hindi

Kaash Shayari  1 :

Kaash Shayari :

काश तुम मुझे एक खत लिख देते,

मुझमे क्या-क्या थी कमी यह तो लिख देते,

मेरे दिल से तुमने नफरत क्यूँ की,

नफरत की ही मुझे कोई वजह तो लिख देते।

Kaash Tum Mujhe Ek Khat Likh Dete,

Mujhme Kya-Kya Thi Kami Yeh To Likh Dete,

Mere Dil Se Tumne Nafrat Kyu Ki,

Nafrat Ki Hi Mujhe Koi Wajah To Likh Dete.

Kaash Shayari
Kaash Shayari

Kaash Shayari  2 :

काश आँसुओं के साथ यादें बह जाती,

काश ये ख़ामोशी सब कुछ कह जाती,

काश किस्मत तुमने लिखी होती,

तो शायद मेरी किस्मत में प्यार की कमी न रह जाती।

Kaash Aansuon Ke Sath Yaaden Bah Jati,

Kaash Ye Khamoshi Sab Kuch Kah Jati,

Kaash Kismat Tumne Likhi Hoti,

To Shayad Meri Kismat Me Pyar Ki Kami Na Hoti.

Kaash Shayari
Kaash Shayari

Kaash Shayari  3 :

काश फिर मिलने की वजह मिल जाए,

साथ जितना भी बिताया वो पल मिल जाए,

चलो अपनी अपनी आँखें बंद कर लें,

क्या पता ख़्वाबों में गुज़रा हुआ कल मिल जाए।

Kaash Phir Milne Ki Vajah Mil Jaye,

Saath Jitna Bhi Bitaya Wo Pal Mil Jaye,

Chalo Apni Apni Aankhen Band Kar Len,

Kya Pata Khwabon Mein Guzra Hua Kal Mil Jaye.

Kaash Shayari
Kaash Shayari

Kaash Shayari  4 :

काश मेरा घर तेरे घर के करीब होता,

बात करना न सही देखना तो नसीब होता।

Kaash Mera Ghar Tere Ghar Ke Kareeb Hota,

Baat Karna Na Sahi Dekhna To Naseeb Hota.

Kaash Shayari
Kaash Shayari

Kaash Shayari  5 :

काश मैं पानी होता और तू प्यास होती,

न मैं खफा होता और न तू उदास होती,

जब भी तुम मेरी निगाहों से दूर होते,

मैं तेरा नाम लेता और तू मेरे पास होती।

Kaash Mai Pani Hota Aur Tu Pyaas Hoti,

Na Main Khafa Hota Aur Na Tu Udaas Hoti,

Jab Bhi Tum Meri Nigahon Se Door Hote,

Main Tera Naam Leta Aur Tu Mere Paas Hoti.

Kaash Shayari
Kaash Shayari

Shayari  6 :

काश ये दिल शीशे का बना होता,

चोट लगती तो बेशक ये फ़ना होता,

पर सुनते जब वो आवाज इसके टूटने की,

तब उन्हें भी अपने गुनाह का एहसास होता।

Kaash Yeh Dil Sheeshe Ka Bana Hota,

Chot Lagti To Beshak Yeh Fanah Hota,

Par Sunte Jab Wo Aawaz Iske Tutne Ki,

Tab Unhein Bhi Apne Gunah Ka Ehsaas Hota.

Kaash Shayari


Shayari  7 :

शिद्दत से चाहा है जिसे मैंने,

सिर्फ उसकी मोहब्बत की तमन्ना की है,

ऐ काश हर लम्हे पर कोई आमीन कहे,

क्योंकि हर सांस ने उसे पाने की दुआ की है।

Shiddat Se Chaha Hai Jise Maine,

Sirf Uski Mohabbat Ki Tamanna Ki Hai,

Ai Kaash Har Lamhe Pe Koi Aameen Kahe,

Kyuki Har Saans Ne Use Paane Ki Dua Ki Hai.

Kaash Shayari


Shayari  8 :

मेरे वजूद में काश… तू उतर जाए,

मैं देखूं आइना और तू नजर आये,

तू हो सामने और वक़्त ठहर जाए, और

ये ज़िन्दगी तुझे देखते हुए गुजर जाए।

Mere Wajood Mein Kaash Tu Utar Jaye,

Main Dekhu Aaina Or Tu Nazar Aaye,

Tu Ho Samne Aur Waqt Thehar Jaye Aur

Ye Zindagi Tujhe Dekhte Hue Guzar Jaye.

Mere Wajood Mein


Shayari  9 :

खुदा से भी पहले तेरा नाम लिया है हमने,

क्या पता तुझे कितना याद किया है हमने,

काश सुन सके तू धड़कन मेरी,

हर सांस को तेरे नाम से जिया है हमने।

Khuda Se Bhi Pahle Tera Naam Liya Hai Humne,

Kya Pata Tujhe Kitna Yaad Kiya Hai Humne,

Kaash Sun Sake Tu Dhadkan Meri,

Har Saans Ko Tere Naam Se Jiya Hai Humne.

Khuda Se Bhi Pahle Tera Naam Liya Hai Humne


Shayari  10 :

सब कुछ हासिल नहीं होता

ज़िन्दगी में यहाँ,

किसी का ‘काश’ तो किसी का ‘अगर’

रह ही जाता है।

Sub Kuch Hasil Nahi Hota

Zindagi Me Yahan,

Kisi Ka ‘Kaash’ To Kisi Ka ‘Agar’

Rah Hi Jaata Hai,

Sub Kuch Hasil Nahi Hota

Read more:

Kaash  shayari 1

good post

waah shayar

We at waah shayari provide you with the best shayari collection you can find on the internet.

Leave a Reply