Izhaar Shayari – best romantic izhaar shayari

 

Izhaar Shayari  1 :

Izhaar Shayari :

चलो आज खामोश प्यार को एक नाम दे दे

अपनी मोहब्बत को एक प्यारा इंजाम देदे

इससे पहले की कही रूठ ना जाए मौसम

अपने धडकते हुए अरमानों को सुरमई शाम दे दे

Chalo aaj khamosh pyaar ko ek naam dede,

Aapni mohabaat ko ek pyara aanjam dede.

Isse pehle ki kahin rooth na jae mausam,

Aapne dhadakte hue aarmano ko surmaee sham dede.

Izhaar Shayari
Izhaar Shayari

Izhaar Shayari  2 :

अच्छा करते है वो लोग जो मोहब्बत का इज़हार नहीं करते

ख़ामुशी से मर जाते है मगर किसी को बदनाम नहीं करते !!

Accha karte hain woh log jo mohabaat ka izhaar nahi karte,

Khamoshi se mar jaate hain magar kisi ko badnaam nahi karte.

Izhaar Shayari
Izhaar Shayari

Izhaar Shayari  3 :

बेशक तू बदल ले अपनी मौहब्बत लेकिन ये याद रखना !

तेरे हर झूठ को सच मेरे सिवा कोई नही समझ सकता !!

Beshak tu badal le apni mohabaat lekin ye yaad rakhna,

Tere har juth ko sach mere siwa koi nahi samjh sakta.

Izhaar Shayari
Izhaar Shayari

Izhaar Shayari  4 :

उन को चाहना मेरी मोहब्बत है

उन्हें कह न पाना मेरी मजबूरी है

वो खुद क्यों नही समझता मेरे दिल की बात को

क्या प्यार का इज़हार करना ज़रूरी है

Un ko chahna meri mohabbat hai

Unhe keh na pana meri majboori hai

Wo khud kyon nhi samjhta mere dil ki baat ko

Kya pyar ka izhaar karna zaroori hai.

Izhaar Shayari
Izhaar Shayari

Izhaar Shayari  5 :

दिल यह मेरा तुमसे प्यार करना चाहता हैं

अपनी मोहब्बत का इज़हार करना चाहता है

देखा हैं जब से तुम्हे ऐ मेरे हमदम

सिर्फ तुम्हारा ही दीदार करना चाहता है

Dil yeh mera Tumse Pyar karna chahta hain

Apni Mohabbat ka izhaar karna chahta hai

Dekha hain jab se Tumhe ae mere humdam

Sirf tumhara hi Dedaar karna chahta hai.

Izhaar Shayari
Izhaar Shayari

Izhaar Shayari  6 :

हर घडी तेरा दीदार किया करते हैं

हर ख्वाब में तुझसे इज़हार किया करते हैं

दीवाने हैं तेरे हम यह इक़रार करते हैं

जो हर वक़्त तुझसे मिलने की दुआ किया करते हैं

Har Ghadi Tera Dedaar Kiya Karte Hain

Har Khwaab Mein tujse izhaar Kiya Karte Hain

Diwaane hain Tere Hum Yeh Iqraar Karte Hain

Jo Har Waqat Tujse Milne Ki Dua Kiya Karte Hain.

Izhaar Shayari

Shayari  7 :

दिल की आवाज़ को इज़हार-ऐ-इश्क़ कहते हैं

झुकी निगाहों को इक़रार-ऐ-इश्क़ कहते हैं

सिर्फ ज़ुबान से कहना ही इज़हार-ऐ-मोहब्बत नहीं होता

दबे होंटों की मुस्कराहट को भी इक़रार-ऐ-इश्क़ कहते हैं

Dil Ki Aawaz Ko Izhaar-ae-Ishq Kahte Hain

Jhuki Nighahon Ko Iqraar-ae-Ishq Kahte Hain

Sirf zuban se kahna hi izhaar-ae-Mohabbat Nahi hota

Dabe honton ki muskurahat ko bhi Iqraar-ae-Ishq kahte hain.

Izhaar Shayari

Shayari  8 :

नहीं करता इज़हारे-ऐ-इश्क़ वो

पर रहता है मेरे करीब है वो

देखूँ उसकी आँखों में तो शर्मा जाता है वो

हाय मेरा यार भी कितना कमाल है

Nahi karta Izhaare-ae-Ishq wo

Par rehta hai mere kareeb hai

Dekhoon uski ankhoo mein to sharma jaata hai wo

Haaye mera yaar bhi kitna kamaal hai.

Nahi karta Izhaare-ae-Ishq wo

Shayari  9 :

जीत की खातिर बस जुनून चाहिए

जिसमे उबाल हो ऐसा खून चाहिए

यह आसमान भी आएगा जमीन पर

बस इरादों मे जीत की गूँज चाहिए

Jeet ki kaatir bas junun chahhiye,

Jisme ubaal ho aisa khoon chahaiye.

Yeh aasamaan bhi aaega zameen par,

Bas iraado mei jeet ka gunj chahiye.

Jeet ki kaatir bas junun chahhiye

Shayari  10 :

कभी वादे के नाम पर

कभी सौदे के नाम पर

हम बेचे जाते हैं आज भी

मोहब्बत के नाम पर

Kabhi vaade ke naam par,

Kabhi suade ke naam par.

hum beeche jaate hain aaj bhi,

mohabaat ke naam par.

Kabhi vaade ke naam par

waah shayar

We at waah shayari provide you with the best shayari collection you can find on the internet.

Leave a Reply