Hindi Shayari – awesome hindi shayari / kavita

Hindi Shayari  1 :

 Hindi Shayari:

ना बैर किया किसी से कभी
ना ही किसी से कोई रंजिश रही
कितनी आसान, खुशमिजाज
कभी मेरी भी सक्षियत रही
चलते चलते जिंदगी में
बदलते हालातों के संग
बदलती रही मैं ख़ुद को भी
होकर मुश्किलों से तंग
छोड़ कर मासूमियत, भरोसा
प्रेम और सम्मान अपनों के लिए ही
दिल में शिकवे गिले बोने लगी
वो बचपन ही सबसे प्यारा था
ना जाने क्यों मैं बड़ी होने लगी
मासूम था मन, लिए उम्मीदों का चमन
अपनों से दूर रहने लगा
ना आता था कभी रूठना जिसे
अब दुनिया के दस्तूर में ढलने लगा
अपनों के लिए ही देखे थे सपने
सपनों के लिए होने लगी अपनों से दूर
ना जाने बुरी हूं मैं या फिर एक मजबूर
मन कहता है अपनों के संग चल
पर सपनों से दूरी भी नहीं मंजूर

                                                                   -HIMANSHI YADAV 

Na bair kiya kisi se kabhi
Na hi kisi se koi ranjish rahi
Kitni asaan, khushmijaaj
Kabhi meri bhee sakshiyat rahi
Chalte chalte jindagi mein
Badalte halaton ke sang
Badalati rahi main khud ko bhi
Hokar mushkilon se tang
chod kar maasoomiyat, bharosa
Prem aur sammaan apno ke liye hi
Dil mein shikave gile bunne lagi
Vo bachapan hi sabse pyaara tha
Na jaane kyon main badi hone lagi
Masoom tha man, liye umeedo ka chaman
Apno se door rahane laga
Na aata tha kabhi roothna jise
Ab duniya ke dastoor mein dhalne laga
Apno ke liye hi dekhe the sapane
Sapano ke liye hone lagi apno se door
Na jaane buri hoon main ya phir ek majaboor
Maan kahata hai apno ke sang chal
Par sapno se dooree bhi nahin manjoor

                                                                   – HIMANSHI YADAV 

Hindi Shayari

Shayari  2 :

  

Science और Arts में शुरू हुई बहस
लगाना है पता कि कौन है best
Science ने बड़े attutide में कहा
हैं history, geography बड़ी बेवफ़ा
रात को रटो सुबह हो जाती हैं सफा
Arts का भी फ़िर गुस्सा बढ़ा
कहा Science ने भी भला क्या है दिया
PCMB ने students की band बजाई
Maths और biology करते हैं लड़ाई
Physics की derivations नींद दिलाती हैं
Chemistry की reactions रटी नहीं जाती हैं
Maths में तो हमेशा ही रहता है डब्बा गुल
Always need more practice
चाहें करलो solve RD full
किस subjects को रटने में
Students रहते हैं इतना जादा busy
Since biology is also not easy
CS भी नहीं रहा कोई बच्चों का खेल
Output निकालने में दिमाग घूमें गोलमोल
Science औेर Arts को फिर याद किसी की आई
पहुंचे Commerce के पास दोनों करते हुऐ लड़ाई
यानी की अब Commerce की शामत आई
Now don’t think that you will take rest
Since you have to decide
which is the best..
science, commerce or arts

                                                            – HIMANSHI YADAV 

 Shayari

Read more:

Hindi shayari 1

behtreen hindi shayari/kavita

Hindi Shayari apno ki pyaar bhari

read this

waah shayar

We at waah shayari provide you with the best shayari collection you can find on the internet.

Leave a Reply