Hasrat E Zindagi – Hasrat Shayari on true love

Hasrat E Zindagi Shayari 1 :

Hasrat E Zindagi :

Mohabbat में तेरी फितरत क्या थी ,
इस kadar तेरी नफरत की वज़ह क्या थी ,
तेरी चाहत पे wafa की थी मैंने ,
फिर तुझे bewafa होने की ज़रुरत क्या थी |

 

Hasrat Shayari
Hasrat Shayari

Hasrat E Zindagi Shayari 2 :

दाग़ ansuon से धोएं है ,
जब भी tanha हुए रोए है ,
दिल में क्यों ना आए yaad तेरी ,
जब दिल में तेरे ही khawab बोए है |

 

Hasrat Shayari
Hasrat Shayari

Shayari No. 3 :

फिर वही Fasana-Afsana सुनते हो तुम ,
Dil के पास हूं कह कर जलते है तुम ,
बिकरार ही Aatis-E-Nazar तुमसे मिलने को ,
फिर क्यों नहीं Nazar आते हो तुम |

 

Hasrat Shayari

Shayari No. 4 :

कोई Chahta है किसी को अपनाने के लिए ,
कोई चाहता है किसी को Tanhai से बचाने के लिए ,
हमे तोह हर किसी ने Chaha ,
सिर्फ अपना दिल Behlane के लिए ।

 

Hasrat E Zindagi

 

Shayari No. 5 :

तुमने ना सुनी dhadkan हमारी ,
पर हमने mehsus की सांसे तुम्हारी ,
इतने दूर hokar भी पास हो दिल के ,
Shayad यही है ‘ मोहब्बत ‘ हमारी ।

 

Hasrat E Zindagi

Shayari No. 6 :

Bikhre रिश्तों को कोई रूप देदो ,
Khilte फूलो को थोड़ी धूप देदो ,
आपकी yaad आयी तो SMS किया हमने ,
आप भी हमारी याद आने का कोई saboot देदो ।

 

Hasrat E Zindagi

Hasrat Shayari

waah shayar

We at waah shayari provide you with the best shayari collection you can find on the internet.

Leave a Reply