Barsaat Shayari – Tumhe बारिश पसंद है मुझे baarish में तुम,

Barsaat Shayari No. 1 :

Barsaat Shayari :

Tumhe बारिश पसंद है मुझे baarish में तुम,
Tumhe हँसना पसंद है मुझे hasti हुए तुम,
Tumhe बोलना pasand है मुझे बोलते हुए तुम,
Tumhe सब कुछ pasand है और मुझे बस तुम।

Barsaat Shayari No. 2 :

ये mausam भी कितना pyara है,
Karti ये हवाएं कुछ ishara है,
Zara समझो inke जज्बातों को,
ये कह रही हैं kisi ने दिल से pukara है।

Barsaat Shayari No. 3 :

आज mausam कितना खुश gawaar हो गया,
Khatam सभी का intezaar हो गया,
Baarish की बूंदे गिरी कुछ इस tarah से,
लगा जैसे aasaman को ज़मीन से pyaar हो गया।

Barsaat Shayari No. 4 :

Baarish में आज भीग jaane दो,
बूंदों को aaj बरस jaane दो,
न rhoko यूँ khud को आज,
भीग jaane दो इस dil को आज।

Baarish Shayari

Barsaat Shayari No. 5 :

एक तो ये raat, उफ़ ये barsaat,
इक तो साथ नही tera, उफ़ ये dard बेहिसाब
Kitni अजीब सी है baat,
मेरे ही bas में नही mere ये हालात।

Shayari No. 6 :

Baras जाये यहाँ भी कुछ नूर की baarishe,
के Imaan के शीशों पे badi गर्द जमी है,
उस tasveer को भी कर दे taaza,
Jinki याद हमारे dil में धुंधली si पड़ी है।

Shayari No. 7 :

Inn बादलों का mijaaj भी…
Mere महबूब jaise है,
कभी toote के बरसता hain,
Kabhi बेरुखी से गुजर jaata है।

Shayari No. 8 :

Aaj हल्की हल्की baarish है,
Aaj सरद hawaa का रक्स भी है,
Aaj फूल भी निखरे nikhre हैं,
Aaj उनमे तुम्हारा askh भी है।

Baarish Shayari

Shayari No. 9 :

Kahin फिसल न जाओ जरा sambhal के चलना,
Mausam बारिस का भी है और Mohabbat का भी।

Shayari No. 10 :

Baarish में चलने से एक baat याद आती है,
फिसलने के darr से वो मेरा हाथ थाम leta था।

Shayari No. 11 :

यही एक fark है तेरे और मेरे शहर की baarish में
तेरे यहाँ ‘जाम’ lagta है, मेरे यहाँ ‘जाम’ lagte हैं।

Shayari No. 12 :

Kitni जल्दी zindagi गुज़र जाती है |
Pyaas भुझ्ती नहीं बरसात chali जाती है
Teri याद कुछ इस tarah आती है |
नींद आती नहीं magar रात guzaar जाती है |…

Baarish Shayari

barsaat shayari in hindi

waah shayar

We at waah shayari provide you with the best shayari collection you can find on the internet.

Leave a Reply